Monday, October 17, 2011

चुटकुला नंबर - 31



संता [ बंता से ] : यार बंता , तू तो बड़ा खुशनसीब है .

बंता : वो क्यों भला ?
संता : यार तेरी और भाभी की जोड़ी ; राम और सीता की जोड़ी लगती है !!
बंता [ एक आह भरकर ] : कहाँ यार , इसे कोई लेकर भी नहीं जाता और ये धरती में भी नहीं समाती !!

2 comments:

जाट देवता (संदीप पवाँर) said...

शुभ दीपावली

"जाटदेवता" संदीप पवाँर said...

लिखो अब क्यों नहीं लिख रहे हो।